What is Meditation?

आज की इस भाग-दौड़ भरी तनावपूर्ण जीवनशैली में हर व्यक्ति किसी न किसी प्रकार से तनाव से पीड़ित है। और इस लिए आपके मन- मष्तिष्क को आराम पहुँचना अत्यंत आवश्यक है और इसमें ध्यान(मेडिटेशन) आपको रिलैक्स करने में मदद करता है। जब अक्सर हमारी इंद्रियां सुस्त हो जाती हैं तो मेडिटेशन हमें जागरूकता बढ़ाने का अवसर देता है। शोध बताते हैं कि मेडिटेशन हमें अस्थायी रूप से तनाव से राहत दे सकता है। इसके आराम और सुखदायक लाभों के कारण, हेल्दी और एक्टिव लाइफ के लिए एक्सपर्ट मेडिटेशन करने की सिफारिश करते हैं।

क्या आप जानते हैं कि ध्यान कई प्रकार के होते हैं और इसका प्रत्येक प्रकार शरीर के विभिन्न हिस्सों को टारगेट करने के लिए होता है। आध्यात्मिक गुरुओं और मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने मेडिटेशन के कई प्रकार विकसित किए हैं जिससे पता चलता है कि मेडिटेशन हर व्यक्तित्व और लाइफस्टाइल के लोगों के लिए अनुकूल है और इसका अभ्यास हर कोई कर सकता है।

जो लोग मेडिटेशन करते हैं, उन्हें इसके अभ्यास से शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ भावनात्मक स्वास्थ्य में सुधार करने का मौका मिलता है। यहां हम मेडिटेशन के कुछ प्रकार बता रहे हैं जिनसे आप चुन सकते हैं कि आपके लिए कौन सा बेस्ट है :-

मेडिटेशन या ध्यान क्या है? (What is Meditation)

ध्यान एक मानसिक व्यायाम है जिसमें रिलैक्सेशन, फोकस और जागरूकता शामिल है। जिस तरह शरीर के लिए शारीरिक व्यायाम काम करता है वैसे ही मेडिटेशन दिमाग के लिए एक अभ्यास है। यह अभ्यास आमतौर पर व्यक्तिगत रूप से बैठकर शांत स्थिति में और आंखें बंद करके किया जाता है।

मेडिटेशन एक अभ्यास है जिसमें कोई व्यक्ति एक तकनीक का उपयोग करके, जैसे माइंडफुलनेस, किसी विशेष वस्तु, विचार या गतिविधि पर ध्यान केंद्रित करता है ताकि फोकस और अवेयरनेस को बढ़ाया जा सके। इसका अभ्यास एक व्यक्ति को मानसिक रूप से स्पष्ट बनाता है और भावनात्मक रूप से शांति और स्थिरता प्रदान करता है।

मेडिटेशन के फायदे (Benefits Of Meditation)

मेडिटेशन कई रूप में आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। यह शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से आपको सेहतमंद बनाता है। मेडिटेशन का नियमित रूप से अभ्यास करने से आपको निम्न फायदे मिल सकते हैं:-

1. तनाव को कम करना मेडिटेशन के फायदों में से एक है। यह कोर्टिसोल के स्तर को कंट्रोल करके आराम देता है।

2. मेडिटेशन एंग्जायटी, डिप्रेशन और निराशा जैसी मानसिक स्थितियों में आपके दिमाग को शांत करके राहत दिलाता है।

3. मेडिटेशन का नियमित अभ्यास एंग्जायटी डिसऑर्डर के लक्षणों को भी कम करता है जैसे कि फोबिया, सोशल एंग्जायटी, पैरानॉइड विचार, कम्पलसिव डिसऑर्डर आदि।

4. मेडिटेशन एजिंग के प्रोसेस को धीमा करता है और आपको जवां बनाए रखने में मदद करता है।

5. मेडिटेशन करने से आप रिलैक्स रहते हैं जिससे आपको अच्छी नींद लेने में मदद मिलती है।

मेडिटेशन के विभिन्न प्रकार (Types Of Meditation)

1. ज़ेन मेडिटेशन (Zen meditation)

ज़ेन मेडिटेशन बौद्ध परंपरा का एक हिस्सा है। इसका अभ्यास एक ट्रेंड प्रोफेशनल के मार्गदर्शन में करना चाहिए। इसके अभ्यास में कुछ विशेष स्टेप्स और आसन शामिल होते हैं। यह आपके दिमाग को तेज़ करने में मदद करता है और आपको तनाव दूर करके रिलैक्सेशन प्रदान करता है।

2. माइंडफुलनेस मेडिटेशन (Mindfulness meditation)

माइंडफुलनेस मेडिटेशन का ध्यान का एक रूप है जो अभ्यास करने वाले व्यक्ति को वर्तमान में जागरूक और उपस्थित रहने में मदद करता है। इस मेडिटेशन के अभ्यास से आप खुद को सचेत और सतर्क बना सकते हैं। इसके अभ्यास के दौरान आप अपने आस-पास हो रही सभी गतिविधियों, ध्वनियों और महक पर ध्यान केंद्रित करते हैं। इसका अभ्यास कहीं भी, कभी भी किया जा सकता है।

3. अध्यात्मिक मेडिटेशन (Spiritual meditation)

हिंदू और ईसाई धर्म में पॉपुलर, आध्यात्मिक ध्यान आपको अपने ईश्वर के साथ एक गहरा संबंध बनाने में मदद करता है। इस ध्यान का अभ्यास करने के लिए आपको इतना सुनिश्चित करना है कि आप मौन में बैठें और अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित करें। ध्यान करते हुए आप का हर एक विचार आपकी सांसों पर केंद्रित होना चाहिए।

4. कुंडलिनी योग ध्यान (Kundalini yoga)

कुंडलिनी योग ध्यान का एक प्रकार है जिसमें आप शारीरिक रूप से सक्रिय होते हैं। इसमें गहरी सांस लेने और मंत्रों का उच्चारण करने के साथ-साथ कई मवमेंट्स भी शामिल होते हैं। इसके लिए आपको आमतौर पर क्लास लेने की आवश्यकता होती है या फिर आप किसी प्रशिक्षक से सीख सकते हैं। हालांकि, आफ घर पर भी आसन और मंत्र सीख सकते हैं।

5. मंत्र मेडिटेशन (Mantra Meditation)

मंत्र एक संस्कृत शब्द है जो दो शब्दों से मिलकर बना है मन (man) जिसका अर्थ है “मस्तिष्क” या “सोचना” और त्राइ (trai) जिसका अर्थ है ”रक्षा करना” या ”से मुक्त करना”। इसलिए मंत्र का मतलब है अपने मन को मुक्त करना या सोच को मुक्त करना। मंत्र मेडिटेशन का अभ्यास आपके मन को नेगेटिव विचारों से दूर करके इसे सकारात्मकता की ओर ले जाता है।

मेडिटेशन अभ्यास दिन में कितनी बार करना चाहिए

मेडिटेशन का अभ्यास आप योग की तरह ही दिन में एक या दो बार कर सकते हैं लेकिन जरूरी है कि इसका अभ्यास आप हर रोज़ करें।

मेडिटेशन करने का सही समय

मेडिटेशन का अभ्यास वैसे तो दिन में किसी भी समय किया जा सकता है, जब भी आप इसे करने में सहज हो और आपके आस-पास का माहौल फोकस करने के लिए उचित हो। परंतु सुबह का समय सूरज उगने पर मेडिटेशन का अभ्यास करना सबसे उचित माना जाता है। यह आपकी इंद्रियों को खोलता है, दिमाग को सक्रिय करता है और मन को शांत करता है। इसके अलावा आप शाम के समय भी मेडिटेशन का अभ्यास कर सकते हैं।

हम आशा करते हैं कि आपको यह लेख पसंद आया होगा।

और अधिक पढ़ने के लिए आप लेखक किशोर कुणाल पर जा कर रोचक चीज़े पढ़ सकते हैं।

Fitness (kick boxing and karate) से जुड़ी जानकारी के लिए आप ऊपर लिंक पर जा कर देख सकते हैं।

योग को सही तरीके से करने के बारे में जानकारी के लिए yoga-nation पर पढ़ें।

This assignment has been done as part of DDIP Program . You can check it here. Digital deepak.